How To Be Your Best Everyday Story in Hindi

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

How To Be Your Best Everyday Story in HindiHow To Be Your Best Everyday Story in Hindi

एक Carpenter था जिसकी उम्र 60 साल होगी। उसको 40 साल हो गए Job करते-करते। एक दिन वो अपने Boss के पास गया और बोला कि, Boss अब मैं Retirement लेना चाहता हूँ। 40 साल आपके साथ काम किया है अब अपने बच्चों को ओर परिवार को Time देना चाहता हूँ। Boss तो Boss होता है उसने सोचा कि जाते-जाते कुछ काम और निकलवा लिया जाए… How To Be Your Best Everyday Story in Hindi

फिर Boss ने कहा ठीक है, कोई Problem नहीं है तुम अच्छे से Retire हो जाना बस मेरा एक छोटा सा काम है वो करते जाओ। बस एक आखिरी Project है उसे पूरा कर दो फिर आराम से एक Party देंगे और आपके Retirement को Celebrate करेंगे।

Give your Best Everyday in Hindi हर दिन अच्छे से अच्छा काम करो…

अब अगर आप भी उस Carpenter की जगह होते तो आप भी यही करते। हाँ बोल देते, उसने भी यही किया हाँ बोल दिया। पर अब उसमें एक फर्क आ गया, उसने सोचा था कि, अब घर बैठना है पर फिर भी काम करना पड़ रहा है। आज तक पूरे मन से घर बनाता था पर आज आधा-अधूरा मन काम पर लग रहा है। जिस Carpenter ने अपनी Life के पूरे Career में World के Best घर बनाए पर आज वो अपने Career के आखिरी घर को पूरे मन से नहीं बना पा रहा था। आज काम में कुछ मज़ा नहीं आ रहा था बस काम चलाऊ घर बना रहा है।

किसी तरीके से उसने धीरे-धीरे बेमन से ढाई महीने लगा कर घर बना कर तैयार कर लिया। अब ढाई महीने खतम हो चुके हैं, Boss आता है Inspection के लिए। Boss उसके पास जाता है, उसके हाथ में घर की चाबी रखता है और कहता है पता है यह जो घर तुमने बनाया है, ये घर मेरी तरफ से, तुम्हारी 40 साल की मेहनत का  उपहार  है , ये तुम्हारा घर ही था जो तुम बना रहे थे। How To Be Your Best Everyday Story in Hindi

अब सोचिए जरा क्या चल रहा होगा Carpenter के दिमाग में। कैसा लग रहा होगा उसे?

सोच रहा था काश किसी ने बता दिया होता कि, ये घर मेरा है तो मैं अपने Career का Worst घर बनाने की जगह अपने Career का Best घर बनाता। अगर मुझे किसी ने बता दिया होता कि, ये घर मेरा है तो मैं इसकी एक-एक ईंट को अच्छी तरह लगता, एक-एक चीज को बड़े अच्छे से Set करता।

ये Story मैंने आप के साथ क्यों की? क्योंकि हम भी उसी Carpenter के जैसे अपना Future Design कर रहे हैं। उस Future की जिसमें हमें रहना है जिसमें हमें जीना है। वो Future जो हमारा आने वाला कल है। हममें से ही कुछ लोग आने वाले कल में कहेंगे काश।

अगर आज आप अपने काम पर ध्यान दे रहे हो तो आने वाले Time में आपके पास एक Better Position जरूर होगी और आप Best Perform नहीं कर रहे तो आपके पास बचेगा सिर्फ काश! तो चाहे आप Father हो, Mother हो, Teacher हो, Professor हो, Service Man हो, चाहे जो भी हो, हर रोज अपना Best दीजिए, क्योंकि आप अपना आने वाला कल बना रहे हो। आपका आने वाला कल कैसा होगा वो आपके हर दिन के Actions पर Depend करता है।

अब आपको Decide करना है आपको अपनी मर्जी से जीना है या काश! नाम का कड़वा घूँट पीना है, आपको काश! चाहिए या आकाश चाहिए।

Don’t Just Count The Day, Makes The Day Count…

To Know more about Work Management in Hindi- Click Here

Article अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter@Bhannaat पर फॉलो करें।

धन्यवाद !!!


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *