Prospect Theory Explained in Hindi

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Prospect Theory Explained in HindiProspect Theory Explained in Hindi (अपेक्षित उपयोगिता सिद्धांत क्या है?)

“The Prospect theory is concept of utility theory and part of economics which tells us about human nature and human behavior that how human takes decision over different situations when there is a choice of winning and losing at the same time”. (Detail of Prospect Theory Explained in Hindi)

“प्रॉस्पेक्ट थ्योरी यूटिलिटी थ्योरी और अर्थशास्त्र का भाग है जो कि, हमें मनुष्य के व्यवहार के बारे में बताती है कि, किस तरह मनुष्य जीवन की अलग-अलग परिस्थितियों में निर्णय लेता है जब उसे एक ही समय में हार और जीत का चुनाव करना पड़ता है।” (“Prospect theory is a part of utility theory and economics that tells us about man’s behavior, how humans make decisions in different circumstances of life when they have to choose to win and win at the same time is.”)

इसे प्रिंसटोन के प्रोफेसर डेनियल कहनेमान और अमोस ट्वेरस्की द्वारा बताया गया है। इस सिद्धांत की वजह से उनको नोबेल प्राइज भी मिला है।

इस थ्योरी में हम सीखते हैं कि, हर इंसान अपना जीवन अपने हिसाब से जीता है, उसके विचार अलग हैं, उसकी पसंद नापसंद अलग हैं, उसके decision लेने का तरीका भी अलग है। हर इंसान के लिए हार और जीत अलग-अलग मायने रखती है कोई करोड़पति होकर भी संतुष्ट नहीं है और कोई middle class life में भी खुश है।

अपेक्षित उपयोगिता सिद्धांत, जिसे अनिश्चितता के तहत decision लेने का सिद्धांत माना जाता था, कई बार विरोध किया गया था। Daniel कन्नमन और आमोस टर्स्स्की ने सम्भावित सिद्धांत विकसित किया जो वास्तव में अनिश्चितता के तहत निर्णय लेने का वर्णन करता है। यह behavioural economics में सबसे interesting theory है। यह बताता है कि, हमारा decision अंतिम परिणाम के बजाय profit और loss से प्रभावित होता है।

Theory of Prospect को example से समझते हैं और एक जुआ खेलते हैं:

मान लीजिए आपके पास 2 option हैं- एक यह कि, आप 5लाख 100% जीत सकते हो और दूसरा यह कि, आपको 1 से 10 के बीच एक नम्बर निकालना होगा और अगर 1 से 7 के बीच कोई भी का नम्बर ता है तो आप 10 लाख जीत सकते हैं लेकिन अगर 8, 9 या 10 आ गया तो आपको कुछ भी नहीं मिलेगा।

आप कौन सा option choose करेंगे ?

अगर आप सामान्य व्यक्ति हैं तो पहला वाला विकल्प चुनेंगे और 99% लोग भी यही option choose करते हैं। आप के चांस 5 लाख अधिक जीतने के हैं और अगर probability देखें तो सच में 70% probability है। फिर भी आप 5 लाख चुनेंगे।

इस Praspect-theory ka एक example देखिए:

1. एक Olympic games में 3 winners होते हैं उनमें से 1st आने वाला बेहद खुश होगा लेकिन हम यह नहीं कह सकते कि, second आने वाला इंसान 1st आने वाले के मुकाबले कम खुश है और हो सकता है कि 3rd आने वाला इंसान उन दोनों से अधिक खुशी feel कर रहा हो। इस प्रकार हम देखते हैं कि, हर इंसान के लिए खुशी और दुख अलग-अलग होता है।

2. स्कूल में किसी subject में कम marks आ जाने के कारण कुछ students बहुत दुखी हो जाते हैं जबकि उनकी 90% हो और दूसरी और एक student जिसने exams preparation सही से नहीं की और 50% marks में भी 90% marks वाले student से अधिक खुश हो।

यही prospect theory हमें human behavior के बारे समझाती है कि, यह human nature है कि, हर व्यक्ति अपनी निश्चित जीत को अनिश्चित जीत से अधिक पसंद करता है। (This prospect theory teaches us about human behavior, that it is human nature that every person prefers their definite victory over the uncertain victory.)

To Know more about Work Management in Hindi- Click Here

Article अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter@Bhannaat एवं instagram पर bhannaatwebsite को फॉलो करें।

धन्यवाद !!!

Tags: Prospect Theory Explained in Hindi, अपेक्षित उपयोगिता सिद्धांत क्या है, prospect theory in hindi, prospect theory kya hai, prospect ka matlab kya hai, prospect theory and it’s usage in hindi.


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *