List of All Scientists and Their Inventions in Hindi

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Unknown Inventions And Discoveries By Indians In HindiList of All Scientists and Their Inventions in Hindi (Unknown Inventions And Discoveries By Indians In Hindi कुछ हैरतंगेज वैज्ञानिक अविष्कार जिन्हें भारतीय वैज्ञानिकों ने खोजा)

इस लेख में सभी भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा किए गए आविष्कारों को सम्मिलित किया गया है। जिनके बारे में ज्यादा कुछ पढ़ा और लिखा नहीं गया है। भारतीय वैज्ञानिकों का हमेशा ही अन्य देशों की तुलना में अभूतपूर्व योगदान रहा है। List of All Scientists and Their Inventions in Hindi



१. सर सी वी रमन की खोज हैं “रमन इफ़ेक्ट”

सर चंद्रशेखर व्यंकट रमन ने जब किरणों के फैलाव “Scattering of light” का अभ्यास किया तब उन्हें पता चला की जब प्रकाश किसी पारदर्शी पदार्थ में से गुजरता हैं तब उसमे से कुछ प्रकाश की किरणों का रूपांतर तरंगो में होता है और इसी को हम रमन इफ़ेक्ट नाम से जानते हैं “Scattering of light” का अभ्यास करने पर उन्हें 1930 में भौतिकशास्त्र में नोबेल पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।

२. बोसोंस पदार्थो का अविष्कार जो सत्येन्द्र नाथ बोस ने लगाया

इस दुनिया में कुछ ऐसे पदार्थ हैं जो बोस-आइंस्टीन स्टेटिस्टिक्स का पालन करते हैं। इन्हीं पदार्थों का अभ्यास करते वक्त पॉल डिराक ने इन पदार्थों का नाम सत्यन्द्र नाथ बोसे के सम्मान में बोसोंस रखा। Bose-Einstein condensate जो की एक State of matter हैं, उसका भी नाम सत्येन्द्र नाथ बोसे और अल्बर्ट आइंस्टीन के नाम पर रखा गया। वे जाने-माने रॉयल सोसाइटी के सदस्य भी रह चुके हैं। 1954 में उन्हें पद्मा विभूषण से भी सम्मानित किया गया।




३. भारत को परमाणु शक्ति से सशस्त्र करने का काम मुख्य रूप से होमी भाभा ने किया

टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ़ फंडामेंटल रिसर्च जो कि, भारत के परमाणु शास्त्र के बढ़ावे में एक मुख्य भूमिका निभाता है, उस संस्थान के अध्यक्ष होमी भाभा थे और इसी कारण उन्हें “Father of the Indian nuclear programme” भी कहा जाता है। Electron-Positron scattering का उन्होंने गहरा अभ्यास किया जिस के कारण उस कार्य को Bhabha Scattering नाम से जाना गया।

List of Scientists and Their Inventions in Hindi

४. भारत के पहले सॅटॅलाइट लाँच व्हीकल का यशस्वी प्रक्षेपण डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम  ने किया

1980 में जब भारत ने रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी के नजदीकी कक्षा में प्रक्षेपित किया तब उस Satellite Launch Vehicle (SLV-III) के प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम थे।

Indian Space Research Organisation (ISRO) और Defence Research and Development Organisation (DRDO) के साथ मुख्य रूप से काम करते हुए उन्होंने अंतरिक्ष सम्बन्धी भारत के कार्यक्रमों में औत प्रक्षेपनास्त्र उन्नति में उन्होंने बेहद बड़ी भूमिका निभाई है।

Ballistic missile और Launch Vehicle इन तकनीकों में काम करने पर उन्हें “Missile Man of India” नाम से भी जाना गया। वे भारत के 11वे राष्ट्रपति भी रह चुके हैं। ओड़िसा में स्थित व्हीलर द्वीप जहाँ मिसाइल की टेस्टिंग होती है, उस द्वीप का नाम अब्दुल कलाम द्वीप रखा गया है।

५. चंद्रशेखर लिमिट और चंद्रशेखर क्ष-किरण (X-Ray) के ऑब्जर्वेटरी का नाम सुब्रमण्यन चन्द्रशेकर से जुड़ा हैं|

Astrophysics क्षेत्र के जाने-माने वैज्ञानिकों में से एक नाम सुब्रमन्यन चन्द्रशेखर है। ब्लैक होल के सिद्धांत को गणितीय सम्बन्ध में स्पष्ट करने पर उन्हें सन 1983 में भौतिक शास्त्र विषय में नोबेल पुरस्कार प्राप्त हुआ।




चंद्रशेखर लिमिट और चंद्रशेखर समीकरण यह तारा भौतिक शास्त्र में बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और अंतरिक्ष में उपस्थित चंद्रशेखर क्ष-किरण की ऑब्जर्वेटरी का नाम भी सुब्रमन्यन चंद्रशेखर पर ही रखा है।

To Know more about Foreign Travellers List in Hindi- Click Here

Article अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter@Bhannaat पर फॉलो करें।

धन्यवाद !!!


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *