Michael Jordan Biography in Hindi

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Michael Jordan Biography in HindiMichael Jordan Biography in Hindi (Michael Jordan Real Life Story)

Michael Jordan का नाम तो आपने सुना ही होगा। ये USA के Famous Basket Ball Player हैं जैसे सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट का देवता कहा जाता है उसी तरह आप Michael Jordan को Basket Ball Champion कह सकते हैं। Michael Jordan Biography in Hindi

इनका जन्म 17 February 1963 में हुआ था और ये Basket Ball में बहुत सारे Cup भी जीत चुके हैं। इन्होंने ही NBA में Chicago को 5 बार Final में पहुँचाया और 5 बार Most Valuable Person of the Tournament का खिताब जीता। India में IPL का नाम तो आपने सुना होगा जैसे IPL में अब तक सबसे महँगे Player Yuvraj Singh हैं जिनकी बोली एक बार 14 करोड़ लगी थी। उसी तरह NBA में इनकी बोली 14 Crore Per Month लग चुकी है तो आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि, Michael Jordan क्या हैं?

इनकी Life की एक Story आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ जो इन्होंने एक Interview में बताई थी जिस से मैं बहुत प्रभावित हुआ था और आप को भी ये घटना Inspire करेगी। इनका जन्म New York, Brooklyn City में एक बहुत ही गरीब परिवार में हुआ था। Michael Jordan बचपन से ही एक आशावादी व्यक्ति थे और हमेशा एक अच्छी ज़िन्दगी जीने के सपने देखते थे। एक बार Michael Jordan जब 12 साल के थे तो उनके पिता ने उन्हें एक Used T-Shirt दी और उन से पूछा कि, बताओ इस T-Shirt कि कीमत क्या हो सकती है…? Michael ने कुछ सोचा और कहा कि, इसकी कीमत कुछ $1 होनी चाहिए।

Michael Jordan Biography in Hindi

उनके पिता ने कहा कि, इसे किसी भी तरह कम से कम $2 में बेच कर आओ। Michael Jordan ने उस T-Shirt को अच्छी तरह से धोया और साफ़ किया उनके पास इस्त्री करने के लिए Iron नहीं थी तो उसने T-Shirt को कुछ कपड़ों के नीचे रख दिया। अब वह T-Shirt कुछ नई जैसी लग रही थी। NexT Day Michael Jordan स्टेशन गए और 6 घंटे वहाँ खड़े रहने के बाद वह T-Shirt $2 में बेच दी. वह बहुत खुश हुआ और अपने पिता को बताया।

10 दिन बाद फिर से उन्हें पिता ने उन्हें एक और T-Shirt दी और कहा कि, क्या इस T-Shirt को तुम $20 में बेच सकते हो Michael ने जवाब दिया “इस T-Shirt के $20 कौन देगा? ऐसा तो हो ही नहीं सकता. पिता ने कहा ऐसा हो सकता है अगर तुम ठान लो तो… Jordan कुछ देर सोचता रहा और अगले दिन उस Tshirt को लेकर Painter के पास गया और उस पर एक Mickey Mouse का Cartoon बनवा दिया।

Next Day Jordan उस T-Shirt को लेकर एक अच्छे और High Level के स्कूल के सामने खड़ा होकर उसे बेचने लगा. थोड़ी देर बाद एक छोटे बच्चे ने उस T-shirt को पसंद कर लिया और उसे लेने के लिए अपने Father से जिद करने लगा। उसके Father ने उस T-Shirt को $20 में खरीद लिया और Jordan को $5 Tip में भी दिए। Michael के लिए $25 बहुत बड़ी रकम थी यानी कि, महीने भर की कमाई एक ही दिन में। अब Michael Jordan अपने घर गए और पूरी बार अपने पिता को बताई।

Michael Jordan Biography in Hindi

इस बार पिता ने Jordan को एक और नया Challenge दिया और कहा अब ऐसी ही एक और T-Shirt को $200 में बेच कर दिखाओ… इस बार Michael Jordan ने अपने पिता से कोई Question नहीं किया और उस T-Shirt को लेकर चला गया।

अगले दिन उनकी City में Shooting के लिए Farah Fawcett जो कि, उस Time एक बहुत बड़ी Actress थी, आई हुई थी। उनके Fans उनसे मिलना चाहते थे और वहाँ बहुत भीड़ थी। Michael Jordan Security Line को तोड़ते हुए Farah के पास चले गए और उस T-Shirt पर उनका Autograph माँगने लगे।

उनका Innocent सा चेहरा देख कर Farah ने उस T-Shirt पर अपना Autograph दे दिया और Michael Jordan भीड़ से बाहर आ कर उस T-shirt को हाथ में लेकर जोर से बोलने लगे. “Farrah Autograph T-shirt In $200 Only” उस T-Shirt को लेने के लिए Farrah के Fans की Line लग गई और वहाँ Auction लग गया और Finally वह T-Shirt $1200 में एक Fan ने खरीद ली. जब Michael घर पहुँचे तो उनके पिता की ख़ुशी का ठिकाना नहीं था।

Michael Jordan Biography in Hindi

पिता ने Michael से पूछा कि, जो तुम ये कपड़े बेच रहे हो इस से तुम्हें क्या सीख मिली? तो Michael Jordan ने जवाब दिया Where there is a Will there is a Way मतलब ‘जहाँ चाह वहाँ राह’ यानी जब कुछ करने का ठान लो तो रास्ता अपने आप निकल आता है। पिता ने कहा, बेटा मैं तुम्हें यही सिखाना चाहता था। वो T-Shirt तो केवल 3$ की थी और जब हम उस की कीमत बढ़ा सकते हैं तो हम अपनी कीमत क्यों नहीं बढ़ा सकते हम इंसान हैं सोच सकते हैं।

Michael Jordan दुनिया के First Millionaire Player हैं उनके जीवन की ये सच्ची कहानी आज भी बहुत लोगों के लिए एक Inspiration है। मुझे उम्मीद है आपको भी इस कहानी से कुछ सीख मिली होगी “जब तक आप अपनी Problems की वजह दूसरों को मानते हैं तब तक आप अपनी Problems को मिटा नहीं सकते।”

To Know more about Indian Currency in Hindi- Click Here

Article अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter@Bhannaat पर फॉलो करें।

धन्यवाद !!!


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *