Nice Story in Hindi

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Nice Story in HindiNice Story in Hindi ‘भाग्य’ की कहानी… Story of everyone’s Luck In Hindi

एक सेठ जी थे, जिनके पास काफी दौलत थी। सेठ जी ने अपनी बेटी की शादी एक बड़े घर में की थी। परन्तु बेटी के भाग्य में सुख न होने के कारण उसका पति जुआरी, शराबी निकल गया। जिससे सब धन समाप्त हो गया। (Nice Story in Hindi, Luck story in Hindi)

 

बेटी की यह हालत देखकर सेठानी जी रोज सेठ जी से कहती कि, आप दुनिया की मदद करते हो, मगर अपनी बेटी परेशानी में होते हुए उसकी मदद क्यों नहीं करते हो?

सेठ जी कहते कि, “जब उनका भाग्य उदय होगा तो अपने आप सब मदद करने को तैयार हो जाएँगे।

एक दिन सेठ जी घर से बाहर गए थे कि, तभी उनका दामाद घर आ गया। सास ने दामाद का आदर-सत्कार किया और बेटी की मदद करने का विचार उसके मन में आया कि, क्यों न उपहार स्वरुप दी जा रही मिठाई में अशर्फियाँ रख दी जाए।

यह सोचकर सास ने मिठाई के बीच में अशर्फियाँ दबा कर रख दी और दामाद को टीका लगा कर विदा करते समय 5 किलो शुद्ध देशी घी मिठाई, जिनमें अशर्फियाँ थी, दे दिए।

दामाद मिठाई लेकर घर से चला और दामाद ने सोचा कि, इतना वजन कौन लेकर जाए क्यों न यहीं किसी मिठाई की दुकान पर यह पैकेट बेच दिया जाए और दामाद ने वह मिठाई का पैकेट मिठाई वाले को बेच दिया और पैसे जेब में डालकर चला गया।

उधर सेठ जी बाहर से आए तो उन्होंने सोचा घर के लिए मिठाई की दुकान से मिठाई लेता चलूँ और सेठ जी ने दुकानदार से मिठाई माँगी। मिठाई वाले ने वही मिठाई का पैकेट सेठ जी को वापिस बेच दिया। 

Luck and Nice Story in Hindi

सेठ जी मिठाई लेकर घर आए। सेठानी ने जब मिठाई का वही पैकेट देखा तो सेठानी ने पैकेट खोलकर देखा और उसमें अशर्फियाँ देख कर अपना माथा पीट लिया। 

सेठानी ने सेठ जी को दामाद के आने से लेकर जाने तक और मिठाई में अशर्फियाँ छिपाने की बात कह डाली।

सेठ जी बोले कि, भाग्यवान मैंने पहले ही समझाया था अभी उनका भाग्य नहीं जागा। देखा मोहरें ना तो दामाद के भाग्य में थी और न ही मिठाई वाले के भाग्य में। 

इसलिये कहते हैं कि, भाग्य से ज्यादा और समय से पहले न किसी को कुछ मिला है और न मिलेगा! इसीलिए ईश्वर जितना दे उसी में संतोष करो। 

झूला जितना पीछे जाता है, उतना ही आगे आता है। एकदम बराबर।

सुख और दुख दोनों ही जीवन में बराबर आते हैं।

जिंदगी का झूला पीछे जाए, तो डरो मत, वह आगे भी आएगा।

सीखने योग्य विचार।। Nice Story in Hindi, Luck Story

किसी की मजबूरियाँ पे न हँसिए, कोई मजबूरियाँ ख़रीद कर नहीं लाता। डरिये वक़्त की मार से, बुरा वक़्त किसी को बताकर नहीं आता।।

Don’t laugh if anyone is helpless, nobody buys hard times. Always afraid of hard time because it is inevitable.


अकल कितनी भी तेज ह़ो, नसीब के बिना नहीं जीत सकती क्योंकि,बीरबल अकलमंद होने के बावजूद, कभी बादशाह नहीं बन सका।।

Brain power means nothing without luck. No matter birbal was brilliant but he was not king.

“ना तुम अपने आप को गले लगा सकते हो, ना ही तुम अपने कंधे पर सर रखकर रो सकते हो एक दूसरे के लिए जीने का नाम ही जिंदगी है!”इसलिये वक़्त उन्हें दो जो तुम्हें चाहते हों दिल से!

Neither you hug yourself, nor you sympathise yourself on your own shoulder. To live for everyone is life thats why give time to those who really needs you.

रिश्ते पैसों के मोहताज़ नहीं होते क्योंकि कुछ रिश्ते मुनाफा नहीं देते पर जीवन अमीर जरूर बना देते हैं!!!”

Relations never depend on money because relations doesn’t give you money but they makes you wealthy and happy.

To Know about more Psychology Facts about Human Behavior in Hindi- Click Here

Article अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter@Bhannaat पर फॉलो करें।

धन्यवाद !!!

TAG: Story of everyone’s Luck, story of luck, what is luck, luck is like this story, bhagya ki kahani, bhagya kaisa ho, amazing luck story


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *