what-is-herd-immunity-in-hindi-with-explanation-in-hindi-bhannaat

What is Herd Immunity in Hindi हर्ड इम्युनिटी हिन्दी में

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

what-is-herd-immunity-in-hindi-with-explanation-in-hindi-bhannaatWhat is Herd Immunity in Hindi हर्ड इम्युनिटी हिन्दी में




What is Herd immunity? (Herd Immunity): हर्ड इम्युनिटी से आशय- “किसी society या group के कुछ प्रतिशत लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity boost) के विकास के माध्यम से किसी भी संक्रामक रोग के प्रसार को रोकने की शक्ति।” What is Herd Immunity in Hindi

जब किसी देश की अधिकांश जनसंख्या किसी एक संक्रामक बीमारी (जैसे— कोरोना जो वर्तमान में फैल रही है) के प्रति प्रतिरक्षित होती है, तो शरीर के अंदर उपलब्ध यह हर्ड इम्युनिटी अप्रत्यक्ष रूप से संरक्षण प्रदान करती है। इसको झुंड प्रतिरक्षा या झुंड संरक्षण भी कहा जाता है।




उदाहरण— यदि किसी भी देश की 80% जनसंख्या किसी वायरस से ग्रसित है, तो हर दस में से आठ व्यक्ति जो बीमारी से ग्रसित होने पर किसी अन्य व्यक्ति का सामना करते हैं तो वे बीमार नहीं पड़ते हैं और न ही बीमारी को आगे फैलाते हैं। इस तरह हर्ड इम्युनिटी से संक्रामक रोगों के प्रसार को नियंत्रण में रखा जाता है। किसी वायरस का संक्रमण कितना संक्रामक है इसके आधार पर, आमतौर पर 70% से 90% लोगों को झुंड प्रतिरक्षा प्राप्त करने के लिए प्रतिरक्षा की आवश्यकता होती है।

इस प्रक्रिया की मूल अवधारणा यह है कि यदि अधिक से अधिक लोग प्रतिरक्षित (Immune) रहेंगे तो किसी भी देश, समूह या समाज में किसी भी संक्रामक रोग को फैलने की चेन या शृंखला को रोका/ तोड़ा जा सकता है और इससे रोग को उन लोगों तक पहुँचाने से रोका जा सकता है, जिन्हें इससे सबसे अधिक खतरा हो सकता है या जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता ज्यादा अच्छी न हो या कमजोर है।

हर्ड इम्युनिटी कैसे काम करती है? Herd Immunity for Corona

किसी भी संक्रामक बीमारी के प्रसार और उसके लिए आवश्यक प्रतिरक्षा सीमा का अनुमान लगाने के लिए इस क्षेत्र के महामारी वैज्ञानिक (Epidemiologists) एक मानक का उपयोग करते हैं जिसे ‘मूल प्रजनन क्षमता’ (Basic Reproductive Number-R0) कहा जाता है।

यह नम्बर बताता है कि किसी एक संक्रमित या रोगी के सम्पर्क में अन्य लोगों के आने पर कितने लोग उस रोग के संक्रमण का शिकार हो सकते हैं। इस स्थिति में 1 से अधिक R0 होने का मतलब है कि, एक व्यक्ति कई सम्पर्क में आने वाले कई अन्य व्यक्तियों को संक्रमित कर सकता है।

वैज्ञानिक प्रमाण के अनुसार, खसरे (Measles) से पीड़ित एक व्यक्ति 12-18 अन्य व्यक्तियों, जबकि इन्फ्लूएंजा (Influenza) से पीड़ित व्यक्ति लगभग 1-4 व्यक्तियों को संक्रमित कर सकता है। वर्तमान में चीन से उपलब्ध प्रमाणों के आधार पर विशेषज्ञों का मानना है कि, COVID-19 का R0 2 से 3 के बीच हो सकता है।




what-is-herd-immunity-in-hindi-bhannaatकोई भी संक्रमण किसी समाज/समूह में तीन प्रकार से फैल सकता है:

1. पहली स्थिति में जहाँ समूह में किसी भी व्यक्ति का टीकाकरण न हुआ हो ऐसे समूह में यदि 1 गुणांक वाले R0 के दो मामले आते हैं तो ऐसे में वह पूरा समुदाय संक्रमित हो सकता है।

2. दूसरी स्थिति में यदि किसी समूह के कुछ ही लोगों का टीकाकरण हुआ हो तो उन लोगों को छोड़कर समूह के अन्य लोग संक्रमित हो सकते हैं।

3. परंतु यदि किसी समूह में पर्याप्त लोग प्रतिरक्षित हों तो ऐसी स्थिति में समूह के वही लोग संक्रमित होंगे जो बहुत ही कमज़ोर होंगे या जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत ना हो।

हर्ड इम्युनिटी कैसे प्राप्त की जा सकती है?

हर्ड इम्युनिटी की सफलता कई कारकों पर निर्भर करती है, जैसे-संक्रमण के बचाव के लिए दिए जाने वाले टीके का असर/ प्रभाव, संक्रमण और टीके के प्रभाव की अवधि का समय और समूह का वह भाग जो संक्रमण के प्रसार के लिये उत्तरदायी हो आदि। य​ह निष्कर्ष विशेषज्ञों द्वारा निकाले गए हैं।

गणितीय रूप में इसे एक निश्चित संख्या से निर्धारित किया जाता है, जिसे ‘समूह प्रतिरक्षा सीमा’ (Herd Immunity Threshold) कहा जाता है। यह उन लोगों की संख्या को दर्शाता है जिन पर किसी बीमारी के संक्रमण का प्रभाव और संचार नहीं हो सकता।

पोलियो के लिए यह सीमा 80-85% जबकि खसरे के लिए 95% है। वर्तमान में उपलब्ध आँकड़ों के आधार पर कोरोना COVID-19 के लिए यह सीमा लगभग 60% है अर्थात किसी समूह में कोरोना COVID-19 के प्रति हर्ड इम्युनिटी प्राप्त करने हेतु समूह के 60% लोगों का प्रतिरक्षित होना आवश्यक है।




हर्ड इम्युनिटी की चुनौतियाँ COVID-19 से निपटने में:

वर्तमान में अधिक जानकारी के अभाव में प्रतिरक्षा प्राप्त करने के लिए समाज के अधिक लोगों को कोरोना COVID-19 से संक्रमित होने देना जोखिम भरा कदम होगा। विशेषज्ञों के अनुसार

इतनी बड़ी मात्रा में लोगों में कोरोना COVID-19 के प्रति प्रतिरक्षा के विकास में बहुत समय लग सकता है, जिससे कई खतरे हो सकते हैं। विशेषकर जब हमें पता यह है कि हृदय रोग और उच्च रक्तचाप जैसी सह-रुग्णता (Co-morbidities) वाले लोग इस संक्रमण से सबसे अधिक असुरक्षित हैं।

इस प्रक्रिया में उन्हीं लोगों में प्रतिरक्षा का विकास हो सकता है जो एक बार संक्रमित होकर संक्रमण से मुक्त हो सके। परंतु कोरोना के संदर्भ में इस प्रक्रिया की सफलता के कोई प्रमाण नहीं हैं और न ही यह सुनिश्चित किया जा सका है कि, एक बार ठीक होने के बाद कोई व्यक्ति पुनः इस रोग से संक्रमित नहीं होगा।

इस प्रक्रिया में पहले से ही दबाव में कार्य कर रहे स्वास्थ्य केंद्रों पर बोझ और बढ़ जाएगा जो इस आपदा के समय में सही निर्णय नहीं होगा।




To Know more about Geeta Updesh in Hindi- Click Here

Article अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter@Bhannaat एवं instagram पर bhannaatwebsite को फॉलो करें।

धन्यवाद !!!

TAGS: what is herd immunity and why is it important, What is herd immunity, What is herd immunity in Hindi, what is herd immunity cdc. Herd Immunity, Herd Immunity Meaning, What Is Herd Immunity, Herd Immunity Means, Herd Immunity Meaning In Hindi. Herd Immunity Example, Herd Immunity Ppt, Herd Immunity In Hindi, Herd Immunity Definition. What Is Herd Immunity And Why Is It Important, Herdimmunity in hindi, 





Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *