What is Placebo Effect in Hindi

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

What is Placebo Effect in Hindi (प्लेसिबो इफ़ेक्ट क्या है?)

Namaste Friends, आज हम बात करेंगे प्लेसिबो Effect के बारे में, शायद आप में से बहुत से लोगों ने इसका नाम पहले से ही सुना होगा। इस Topic पर एक किताब भी लिखी जा चुकी है जिसका नाम है You Are The Placibo जिसे Joe Dispenza ने लिखा है जब वे 21 साल के थे। (What is Placebo Effect in Hindi)

 

उनका एक बहुत बड़ा एक्सीडेंट हो गया। उस एक्सीडेंट में उनकी Backbone की लगभग सभी हड्डियाँ टूट चुकी थी, बड़े से बड़े डॉक्टर ने भी उनका इलाज किया लेकिन सभी ने एक ही बात कही कि, अब उन्हें पूरी Life Wheel Chair पर ही जीना पड़ेगा, पर उन्होंने हार नहीं मानी उन्होंने खुद के उपर एक Experiment किया।

 

उन्होंने मन ही मन ये सोच लिया कि, उनके शरीर में Accident का कोई प्रभाव नहीं पड़ा है और वे पहले जैसे Normal हैं। कुछ महीने ऐसी Thinking रखने के बाद उन्होंने Feel किया कि वे धीरे-धीरे ठीक हो रहें हैं जल्द ही वे पहले जैसे Normal हो गए और ये बात Medical Science के लिए एक मिस्ट्री बन गई।

What is Placebo Effect in Hindi

इस से साफ़-साफ़ पता चलता है कि, हमारा शरीर वही करता है जो हम सोचते हैं ये बात Science भी Prove कर चुका है कि, जिस Frequency में हम अपने Brain को रखते हैं उसी Frequency में हमारी Body ढलने लगती है। एक बार वैज्ञानिकों ने लोगों को दर्द की Medicine की जगह कोई Normal Sugar की Medicine दे दी और लोगों का दर्द भी सही हुआ क्योंकि लोगों ने उसे Medicine के रूप में Accept किया। Doctors लोग Placibo Effect का बहुत USE करते हैं।

इसी प्रकार से आपने बहुत से लोगों को तावीज़, अंगूठियाँ और गले में माला पहने हुए जरूर देखा होगा उसका भी यही काम है। वे सब आपकी Life को उसी तरह से Effect करते हैं जैसे कि Placibo Effect.

Uses of placebo effect:

Placebo Effect इंसान के Belief System पर काम करता है। जैसे कई बार हम Exam से पहले ही हम बहुत Nervous हो जाते हैं और सोच लेते हैं कि, हमारा Exam ख़राब होगा और Normally वैसा ही होता है, असलियत में ऐसी Situation में आपको जो आता भी है उसे भी आप थोड़ा भूल ही जाते हो जिस वजह से आपके Marks Average ही रहते हैं। मनुष्य का Belief System ही उसे उपर उठा सकता है या नीचे गिरा सकता है, क्योंकि जहाँ आस्था है वहाँ रास्ता है, आस्था से विचार आते हैं विचार से अनुभूति आती है, अनुभूति का प्रभाव कार्य में दिखाई देता है और अच्छे कार्य से अच्छे परिणाम आते हैं, तो आपको अच्छे परिणाम चाहिए तो आपको Positive चीजों पर ध्यान लगाना पड़ेगा।

How to use placebo effect in life…

कई बार लोग कहते हैं कि, आप ये नहीं कर सकते आप वो नहीं कर सकते तो आपको उनकी Negative बातों को Avoid करना है, आपको केवल वो ही पकड़ना है जो आपके लिए Useful हो, Negative Thinking Mind में एक Negative Pattern डेवेलोप करता है जिस से आप में अच्छी काबिलियत होने के बावजूत आप वो काम नहीं कर पाते जिस के आप Capable हो। जिसे Nocebo Effect भी कहते हैं।

आप जैसा सोचेंगे आप वैसे ही बन जाएँगे:

जीवन में आपको आपके Parents, Friends, Relatives आदि Advice देते हैं, आपको करना बस इतना है कि, जो भी Advice आप के काम की है उसे Accept कीजिए और जो आपके काम की नहीं है उसे Reject कीजिए। अपनी Positive Thinking से दुनिया में कुछ भी हासिल कर सकते हैं आप खुद ही सोचिए कि, अगर आप किसी से भी गुस्से से मिलेंगे तो कोई भी आपसे मिलना नहीं चाहेगा दुनिया चढ़ते सूरज को ही सलाम करती है। महात्मा बुद्ध ने भी कहा है What You Think,You Become आप जैसा सोचते हैं वैसे आप बन जाते हैं।

To Know about Our Fundamental Rights in Hindi- Click Here

Article अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter@Bhannaat पर फॉलो करें।

धन्यवाद !!!


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *